चार साल में स्मार्टफोन की बिक्री दो करोड़ यूनिट घट गई, इनकी जगह वीआर हैंडसेट ले सकते हैं

VR News
Share the news by clicking the button below.

टेक्नोलॉजी विशेषज्ञ और निवेशक अगले बड़े करिश्मे की खोज में लगे हैं। इस समय सबसे बड़ा आइडिया वर्चुअल रियलिटी (बीआर) हैडसेट्स है। इस टेक्नोलॉजी के एक अन्य रूप आगमेंटेड रियलिटी (एआर) या संवर्धित वास्तविकता का अनुभव चश्मा पहनकर करते हैं। इनमें असली दुनिया की वस्तुओं को कंप्यूटर ग्राफिक्स से बढ़ाकर दिखाते हैं।

अमेरिकी टेक कंपनियों एपल, गूगल, मेटा (फेसबुक), माइक्रोसॉफ्ट और टिकटॉक की चीनी मालिक बाइटडांस, जापानी कंपनी सोनी वीआर या एआर हेडसेट्स बेच रही हैं। या उन पर काम चल रहा है।

फिर भी, अगले बड़े प्लेटफार्म की खोज के दावे को स्वीकार करने से पहले सावधानी जरूरी है। पहले भी ऐसे दावे बहुत कामयाब नहीं हुए हैं। टेबलेट को स्मार्टफोन का प्रतिद्वंद्वी बताया गया था पर एपल अब भी आईपैड की तुलना में छह गुना अधिक पैसा आईफोन से कमाती है।

स्मार्टहोम्स को एक अन्य संभावित बड़े प्लेटफार्म के रूप में देखा गया पर अब तक अलेक्सा और उसके जैसे अन्य डिवाइस छोटे-मोटे काम करते हैं। कार टेक्नोलॉजी उपयोगी है लेकिन वह किसी के डिजिटल जीवन का मुख्य हिस्सा नहीं बन सकी है। इस समय गेमिंग में ज्यादा इस्तेमाल होने वाले हैडसेट्स के संबंध में भी ऐसा सोचा जा सकता है।

दरअसल, कंज्यूमर धीरे-धीरे पहने जाने वाले डिवाइस की ओर बढ़ रहे हैं। इनमें कॉल करने, मैसेज पढ़ने वाले स्मार्ट हैडफोन्स और फिटनेस सहित अन्य काम करने वाली स्मार्ट वॉच शामिल हैं। कई किस्म के हेल्थ गैजेट्स आ चुके हैं।

ये गैजेट्स फोन का स्थान लेने की बजाय उसके सहयोगी हैं। वीआर और एआर ग्लासेस हल्के और सस्ते होने पर वियरेबल गैजेट्स का सबसे अधिक ताकतवर हिस्सा बन जाएंगे। लोग अपने फोन से पीछा तो नहीं छुड़ाएंगे बल्कि उनका उपयोग बैकऑफिस के समान करेंगे। चिप के और अधिक छोटे होने पर फोन का वह उपयोग भी नहीं रह जाएगा। हालांकि, यह बदलाव जल्द नहीं होगा। इंटरनेट फोन 1990 दशक के अंत में आए थे।

Source: Denik bhaskar.com

दस साल में स्मार्ट फोन को पीछे छोड़ने का अनुमान

स्मार्टफोन की बिक्री घटने के कारण नए प्लेटफार्म की खोज हो रही है। आईडीसी के अनुसार अमेरिका में स्मार्टफोन की बिक्री 2017 की 17 करोड़ 60 लाख यूनिट से घटकर 2021 में 15 करोड़ 30 लाख रह गई। वेंचर केपिटल फंड्स ने 2021 की अंतिम तिमाही में वीआर टेक्नोलॉजी पर 15 हजार करोड़ रु. से अधिक लगाए हैं। 18 माह में फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने एक करोड़ क्वेस्ट-2 हैडसेट डिवाइस बेचे हैं। डेटा फर्म आईडीसी के अनुसार इस साल केवल 1 करोड़ 60 लाख हैडसेट बिकने की संभावना है।

कंपनी के विशेषज्ञ जीतेश उरबानी कहते हैं, लेकिन दस साल में हैडसेट स्मार्टफोन के बराबर खड़े हो जाएंगे। हैडसेट, फोन के चिप बनाने वाली कंपनी क्वैलकॉम के ह्यूगो स्वार्ट कहते हैं, हैडसेट की मांग स्मार्टफोन से अधिक हो जाएगी।

Share the news by clicking the button below.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Top 10 Best Dressed stars in met Gala 2022